उत्तरा न्यूज
अल्मोड़ा उत्तराखंड

राज्य सभा सांसद ने कहा प्रणब दा को नहीं जाना चाहिए था आरएसएस मुख्यालय

आरएसएस करेगा प्रणब मुखर्जी के इस दौरे का स्वार्थ की दृष्टि से प्रयोग

अल्मोड़ा। उत्तरान्यूज डेस्क।
राज्य सभा सांसद प्रदीप टम्टा का कहना है कि पूर्व राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को आरएसएस के कार्यक्रम में नहीं जाना चाहिए था। उन्होंने कहा कि उन्होंने वहां जो भी भाषण दिए वह उनकी दृष्टि से सही हैं। लेकिन आरएसएस इस कार्यक्रम में प्रणब दा की उपस्थिति का अपने हित में इस्तेमाल करेगा। उन्होंने कहा कि वहां रजिस्टर में प्रणब दा ने जो लिखा है उसका एक साजिश के तहत बेजा इस्तेमाल भी किया जा सकता है। हालांकि उन्होंने कहा कि यह उनके निजी विचार हैं।
आज अल्मोड़ा में होटल शिखर में पत्रकारों से वार्ता करते हुए उन्होंने कहा कि देश में केन्द्र सरकार का चार साल का कार्यकाल निराशाजनक साबित हुआ है। प्रधानमंत्री एक अनचाहा रिकार्ड बना चुके हैं कि चार सालों में मीडिया के सामने आने से वह बचते रहे। बेरोजगारी, कालाधन, भ्रष्टाचार और अन्य मुद्दे पहले की तरह अपनी जगह पर हैं। उन्होंने कहा कि भाजपा ने 2014 का चुनाव एक व्यक्ति यानी नरेन्द्र मोदी के नाम पर लड़ा था। अब इस सरकार की नाकामयाबी और नाकामयाबी की जिम्मेदारी उनकी ही है। उन्होंने कहा कि सरकार ने स्थानीय से लेकर राष्ट्रीय स्तर तक मुद्दों की अनदेखी की है। और देश की जनता को इस कार्यकाल से निराशा ही हाथ लगी है।उन्होंने कहा कि निर्भया प्रकोष्ठ जिसे एक हजार करोड़ रुपये की निधि से तैयार किया गया था उस कोष से चार सालों में किसी पीड़ित को सहायता नहीं मिली बकायदा एक साजिश के तहत मासूम से दुराचार की घटना को धर्म से जोड़ कर देखा गया। उन्होंने कहा कि शैक्षिक संस्थानों को एक साजिश के तहत दबाने का प्रयास किया।
इस मौके पर उनके साथ पूर्व विधायक मनोज तिवारी, पूर्व दर्जामंत्री बिटृटू कर्नाटक, निवर्तमान पालिकाध्यक्ष प्रकाश जोशी, पूरन रौतेला, प्रमोद कुमार,हेम तिवारी, सचिन आर्या आदि मौजूद थे।

Related posts

गुरुडा़बांज में पड़ोस युवा संसद कार्यक्रम सम्पन्न

Newsdesk Uttranews

लमगड़ा तहसील भवन निर्माण नहीं होने पर नाराज कुंजवाल बैठे धरने पर

उत्तरा न्यूज डेस्क

अच्छी पहल— एनएचएम के पूर्व उपाध्यक्ष(Former Vice President of NHM) ने पर्यटक स्थल एवं गांवों में चलाया कोरोना के विरुद्ध अभियान,लोगों से घबराने के बजाय सतर्क रखने की अपील

Newsdesk Uttranews