उत्तरा न्यूज
अभी अभी पिथौरागढ़

आखिरकार नींद से जागा प्रशासन : उच्च हिमालयी क्षेत्र में फंसे लोगों के लिये हैली से पहुचाया दैनिक जरूरत का सामान

पिथौरागढ़। हाईकोर्ट के निर्देश के बाद आखिरकार आज उच्च हिमालयी इलाकों में फंसे लोगों को हैलीकॉप्टर के जरिये जरूरत का सामान पहुचाया गया। रविवार को धारचूला तहसील के सीमान्त व्यास घाटी क्षेत्र के गांवों के लिए रविवार को हेलीकॉप्टर के माध्यम से राशन और दैनिक जरूरत का अन्य सामान पहुंचाया गया। साथ ही उच्च हिमालयी क्षेत्रों में प्रवास पर गए करीब 34 लोगों को हेली सेवा के जरिये धारचूला लाया गया।

गौरतलब है कि नैनीताल हाईकोर्ट ने बीते गुरुवार को एक जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए राज्य को 24 घंटे के भीतर व्यास घाटी के विभिन्न गांवों में खाद्यान्न सामग्री मुहैया कराने के निर्देश दिये थे। बताते चले कि विगत बरसात के सीजन से अतिवृष्टि के चलते इन इलाकों को जोड़ने वाले पैदल रास्ते पूरी तरह क्षतिग्रस्त हो गये हैं। और धारचूला से इन इलाकों के लिए घोड़े-खच्चरों से भी पर्याप्त खाद्यान्न सामग्री नहीं पहुंचाई जा सकी है। ऐसे में उच्च हिमालयी क्षेत्रों में रहने वाले ग्रामीणों के सामने राशन और रोजमर्रा की जरूरत के अन्य सामान की भारी किल्लत हो गई है। ग्रामीण किसी तरह अपनी गुजर बसर कर रहे हैं। इन इलाकों में धान-गेहूं का उत्पादन भी नहीं होता। इन परिस्थितियों में इस इलाके की एक बड़ी आबादी चीनी मंडी तकलाकोट से आने वाले सामान पर निर्भर हो गई है।

गांवों में आटा, चावल और चीनी, चायपत्ती जैसी सामग्री की किल्लत दूर होने की संभावना

विगत दिनों मीडिया के माध्यम से यह मसला जोर-शोर से उठा। इसके बावजूद हालात अब तक सामान्य नहीं हुए हैं। बहरहाल हाईकोर्ट के निर्देश के बाद सरकार और जिला प्रशासन हरकत में आया और शासन स्तर से हेलीकॉप्टर की व्यवस्था होने के बाद रविवार को धारचूला से हेली सेवा के जरिये गुंजी, बुंदी और गर्ब्यांग के गोदामों में खाद्यान्न की आपूर्ति शुरू की गई।

उच्च हिमालयी क्षेत्रों में प्रवास पर गए 34 लोगों को हेलीकॉप्टर से लाया गया धारचूला

धारचूला के उप जिलाधिकारी आरके पांडेय ने बताया कि उच्च हिमालयी क्षेत्रों में प्रवास पर गए 34 लोगों को रविवार को हेली सेवा के माध्यम से धारचूला लाया गया। इनमें कई बुजुर्ग और बीमार लोग भी शामिल थे। इधर जिला खाद्य आपूर्ति अधिकारी मनोज वर्मन ने बताया कि रविवार को हेलीकॉप्टर से 7 शोर्टी में करीब 25 कुंतल खाद्यान्न सामग्री और दैनिक जरूरत का अन्य सामान व्यास घाटी के 7 गांवों के लिए भेजा गया। इसमें गेहूं, चावल, रिफाइंड तेल, मसाले, माचिस, दूध, चाय, चीनी, दालें, नमक और प्याज-सब्जी आदि सामग्री शामिल है। यह सामग्री गुंजी, बुंदी और गर्ब्यांग स्थित गोदामों में उतारी गई है। जहां से इस सामग्री को सार्वजनिक वितरण प्रणाली के जरिये ग्रामीणों को मुहैया कराया जाएगा। श्री वर्मन ने हेलीकॉप्टर आने पर सीमान्त क्षेत्र में और खाद्यान्न सामग्री भिजवाने की बात भी कही।

Related posts

मधुबाला के 86 वे जन्मदिन पर गूगल (google) ने डूडल (doodle) बनाकर किया याद

Newsdesk Uttranews

लापता चल रहे थे छात्र छात्रा, ढूंढ खोज में छात्रा का शव बरामद

उत्तरा न्यूज डेस्क

Almora- सड़क सुरक्षा को लेकर सल्ट पुलिस ने निकाली जागरूकता रैली

Newsdesk Uttranews