उत्तरा न्यूज
अभी अभी पिथौरागढ़

चम्पावत में पत्रकारों के साथ अभद्रता का मामला : पिथौरागढ़ में पत्रकारों ने राज्यपाल को ज्ञापन भेजकर कार्यवाही की मांग की

चम्पावत में पत्रकारों के साथ अभद्रता का मामला गहराया

पिथौरागढ़ से विशेष प्रतिनिधि की रिपोर्ट

पिथौरागढ़। विगत 4 सितंबर को चंपावत पुलिस अधीक्षक द्वारा चम्पावत मे हुए तिहरे हत्याकांड का समाचार संकलन करने से पत्रकारों को रोके जाने पर जनपद के पत्रकारों ने नाराजगी जतायी है। इस घटना के विरोध में पिथौरागझ़ जनपद के पत्रकारों ने राज्यपाल को ज्ञापन भेजकर मामले में आवश्यक कार्यवाही करने की मांग की।
गौरतलब है कि विगत दिनों जनपद चंपावत के चल्थी क्षेत्र में तिहरा हत्याकांड हुआ था। इस घटना की कवरेज करने चंपावत जिले के पत्रकार मौके पर गए, लेकिन मौके पर पहुंचे पत्रकारों को चंपावत के पुलिस अधीक्षक ने घटनाक्रम की कवरेज करने से रोक दिया और उनके काम को बाधित किया। इस वाकये से पत्रकारों में रोष व्याप्त है। मंगलवार को पिथौरागढ़ जनपद के तमाम पत्रकारों ने इस घटना के खिलाफ एसडीएम सदर एसके पांडेय के माध्यम से राज्यपाल बेबी रानी मौर्य को एक ज्ञापन भेजा। ज्ञापन में कहा गया है कि पत्रकारिता लोकतंत्र का चौथा स्तंभ है और समाज की आवाज है। जिस तरह चंपावत पुलिस अधीक्षक द्वारा पत्रकारों को घटना की कवरेज करने से रोका गया है वह अत्यंत अशोभनीय है। पत्रकारों ने राज्यपाल से इस विषय को गंभीरता से लेते हुए प्रकरण में आवश्यक कार्यवाही की मांग की है। ज्ञापन देने वालों में कोमल मेहता, अखिल भारतीय पत्रकार सुरक्षा समिति के जिलाध्यक्ष पंकज कुमार पांडेय, विजय वर्धन उप्रेती, यशवंत महर विपिन गुप्ता, बृजेश तिवारी, मयंक जोशी व मोहित जोशी शामिल रहे।

यह भी पढ़े

 

http://uttranews.com/2018/09/11/champawat-me-police-aur-patrakaro-me-gatirodh-jari/

Related posts

हवालबाग के इन गांवों में लगा वैक्सीनेशन(vaccination) शिविर

Newsdesk Uttranews

International Women’s Day- पिथौरागढ़ में अनेक कार्यक्रमों का आयोजन

Newsdesk Uttranews

corona update— नैनीताल में 17 नये पाजिटिव केस, उत्तराखण्ड में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा पहुंचा 2984

Newsdesk Uttranews