उत्तरा न्यूज
अभी अभी पिथौरागढ़

धारचूला पहुंची रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण, पहाड़ मे शिक्षा व हैल्थ सुविधाओं को लेकर कही यह बड़ी बात

धारचूला पहुंची रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण, पहाड़ मे शिक्षा व हैल्थ सुविधाओं को लेकर कही यह बड़ी बात

पिथौरागढ़:- रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमन सोमवार को सीमांत क्षेत्र पिथौरागढ़ के धारचूला पहुंची| इस दौरान उन्होंने सेवा दिवस पर आयोजित स्वास्थ्य शिविर में शिरकत की|
धारचूली स्थित सेना के मैदान में आयोजित स्वास्थ्य शिविर का उद्घाटन करते हुए उन्होंने सैनिकों की समस्याएं सुनी|
रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण ने भारत-चीन सीमा पर स्थित नवीढांग पहुंचकर जवानों से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने जवानों को अपने हाथों से नाश्ता परोसा और फिर उनकी समस्याओं के बारे में पूछा। 
रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण बरेली से हेलीकॉप्टर के जरिए सीधे भारत चीन सीमा स्थित नवीढांग गई। जहां पर उन्होंने सीमा पर तैनात जवानों से मुलाकात की|


धारचूला में पहली बार पहुंची रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने जवानों के बीच जाकर उनकी बात सुनी। रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण चाय कार्यक्रम में पहुंची। जहां पर जवानों को संबोधित करते हुए उन्होंने हौसला बढ़ाया। इस दौरान वह सीधे कुमाऊं स्काउट, आर्टिलरी और पंजाब रेजीमेंट, पायनियर, वन आर्चर, 30 मोबाइल कंपनी के जवानों के बीच गई। जहां उन्होंने अपने हाथ से जवानों को नाश्ते की प्लेट परोसी।
सीओ आरएस बिष्ट ने बताया कि स्काउट तीस साल से सरहद पर कार्य कर रही है। रक्षा मंत्री ने सीमा पर कार्य करने के दौरान संस्मरण सुनाने को कहा तो भूपाल सिंह ने वर्ष 1998 की मालपा आपदा और 2013 की आपदा के दौराना उनके द्वारा किए गए कार्यों की जानकारी दी|
इस दौरान रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण ने सेना द्वारा आयोजित चिकित्सा शिविर का दीप जलाकर शुभारंभ किया। इस अवसर पर सभा को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि आज से देश मे सेवा सप्ताह शुरू हो रहा है। सेवा सप्ताह के लिए उन्हें धारचूला आने का सुअवसर मिला है। देश मे आयुष्मान भारत सेवा योजना शुरू हो रही है। देश के पांच करोड़ लोगों को इस योजना का लाभ मिलेगा। देश के सभी राज्यो के साथ एमओयू हो चुका है। यह योजना विश्व की सबसे बड़ी हेल्थ केयर योजना है। प्रत्येक राज्य में पायलट प्रोजेक्ट के रूप योजना चलाई जा रही है। उन्होंने कहा कि यह योजना पीएम मोदी की सर्वोच्च प्राथमिक योजना है। 
रक्षा मंत्री ने कहा कि पहाड़ को अच्छे स्कूल अच्छी सड़कों और अच्छी चिकित्सा सेवा की आवश्यकता है। केंद्र और राज्य सरकार इसके लिए प्रयास कर रही है। उन्होंने उत्तराखंड की महिलाओं को देश भर में सबसे जीवट वाली महिलाए बताया और कहा कि साक्षर और पढ़ी लिखी होने के बाद वे पूरा घर चलाती है। उन्होंने पहाड़ की नारियों को सलाम करते हुए कहा कि उत्तराखंड वीरो की भूमि है। यहां हर घर से एक सदस्य सेना में जाकर देश की सेवा कर रहा है। यहां के लोगों को आधिक सुविधाए मिले यह प्रयास हो रहा है। उन्होंने कहा कि इन सब बातों को लेकर ही उन्होंने सेवा सप्ताह का पहला दिन सीमा छोर धारचूला को चुना। उन्होंने कहा कि यह क्षेत्र अति सुंदर है और सबसे बड़ी बात यह है कि यह भगवान शिव के धाम के पास है।  
इस अवसर पर क्षेत्रीय सांसद और केंद्रीय राज्यमंत्री अजय टम्टा, सेना की मेडिकल कोर के महानिदेशक लेफ्टिनेंट जनरल विपिन पुरी सहित अनेक सेना के अधिकारी और जनप्रतिनिधि मौजूद थे।
सेवा दिवस के अवसर पर विभिन्न सेवा कार्यों और स्वास्थ्य शिविर का आयोजन कर सेना ने सीमान्त जनता के बीच इन कार्यक्रमों का आयोजन किया।

Related posts

पदोन्नति में आरक्षण व्यवस्था में सुप्रीम कोर्ट के फैसले पर जनरल ओबीसी इम्प्लाईज एसोसिएशन ने जताई खुशी

UTTRA NEWS DESK

चालान काटने के विरोध में लोहाघाट बाजार बंद

उत्तरा न्यूज डेस्क

अल्मोड़ा: 12वीं में फेल होने पर छात्रा ने की खुदकुशी(Suicide)

UTTRA NEWS DESK