उत्तरा न्यूज
अभी अभी बागेश्वर

गुलदार देखे जाने के बाद मची भगदड़ में किशोर की मौत

बागेश्वर में अाखिरकार कितनी जान लेगा गुलदार?गुलदार देखे जाने के दौरान मची भगदड़ किशोर की मौत

लोगों ने अस्पताल में काटा हंगामा

बागेश्वर| बागेश्वर में गुलदार काल का परिचायक बन गया है| हालत यह है कि उसकी आमद की धमक से ही लोगों में भगदड़ मच जा रही है| एेसी ही एक घटना में गुलदार की दहशत से 15 वर्षीय बच्चे हेमंत टंगड़िया की मौत हो गयी।वह द्यानगढ़ गॉव में अपने ननिहाल में रहता था |
परिजनों के मुताबिक गुलदार दिखने के बाद भगदड़ में बच्चे की मौत हुई है|मूल रूप से अंमसरकोट के बोर गॉव का निवासी हेमंत को गंभीर हालत में परिजन अस्पताल लाए अस्पताल पहुँचने से पहले हेमंत की मौत हो गयी थी। गुलदार को लेकर ग्रामीणों में गहरी नाराजगी है। जिला अस्पताल में ग्रामीणों ने हंगामा किया।साथ ही गुलदार को नरभक्षी घोषित करने की मांग पर ग्रामीण ने खूब हंगामा कि़या| स्थिति को देखते हुए
अस्पताल परिसर के बाहर पुलिस तैनात कर दी गई|
मालूम हो कि तीन दिन पहले इसी गॉव में गुलदार ने एक बच्चे को निवाला बनाया था|
परिजनों के मुताबिक 5 बजे गॉव में गुलादार दिखाई दिया। ग्रामीण भागने लगे। ऐसी भगदड़ में हेमंत गिर गया। जिसमें उसकी मौत हो गयी।
डॉक्टर के मुताबिक बच्चे के शरीर पर चोट के निशान नहीं है। पोस्टमार्टम के बाद ही स्थिति साफ होगी।
अस्पताल में परिजनों और ग्रामीणों से बात करने के बाद उपजिलाधिकारी राकेश चंद्र तिवारी ने बताया कि घटना के बाद प्रभागीय वनाधिकारी को मौके पर भेज दिया गया है। मामले की पूरी जांच की जायेगी।
चिकित्साधिकारी के मुताबिक बच्चे के शरीर मे कोई चोट या गुलदार के खरोंच के निशान नहीं। मौत कैसे हुई पोस्टमार्टम के बाद ही पता चलेगा
उपजिलाधिकारी के मुताबिक पूरी जांच की जायेगी
ग्रामीणों ने विधायक चंदन रामदास की भूमिका पर भी अपना हुस्सा निकाला|

Related posts

कमाल की कार्यपालिका! राजकीय व राष्ट्रीय शोक का मतलब पता नहीं, एक ही पत्र में लिख दिए दोनों शब्द

Dwarahat – विधायक महेश नेगी (MLA Mahesh negi) का आरोप, अंजान व्यक्ति ने फोन कर मांगे 60 लाख

Newsdesk Uttranews

ऐतिहासिक स्याल्दे बिखोती मेले के उल्लास में द्वाराहाट