उत्तरा न्यूज
अभी अभी अल्मोड़ा

पाँजीटिव खबर :- हवालबाग में महिलाएं बना रही मंडुए के केक, बिस्कुट व ब्रेड, जूस, जैम व चटनी का हो रहा आर्गैनिक उत्पादन, स्थानीय महिलाओं को मिल रहा रोजगार

photo :-uttranews

See video here

 

अल्मोड़ा:- खेती,पशुपालन जैसे पारंपरिक काम में खपने के बाबजूद पहाड़ की रीढ़ बन चुकी महिलाओं ने अब लीक से हट कर उत्पादन के क्षेत्र में मुकाम बनाने का फैसला किया है इनकी यह मुहिम सफल भी हो रही है लोगों को प्रोडेक्ट पसंद आ रहे हैं इससे उत्साहित महिलाओं ने पहाड़ के सेब की चटनी जैम व कीवी का जैम बनाने का काम शुरू कर दिया है | जिला प्रशासन व आजीविका परियोजना ने विपणन की बाधा दूर करने के लिए आउटलेट की व्यवस्था कर दी है | इसके बाद महिलाओं को उम्मीद है कि हिलांस ब्रांड के बैनर मिलने के बाद उनके उत्पाद लोगों की पहली पसंद बनेंगे |

photo :-uttranews

आजीविका सुधार परियोजना के सहयोग से स्वयं सहायता समूहों व आजीविका के सहकारी फैडरेशनों से जुड़ी महिलाओं के लिए हवालबाग ब्लाँक मुख्यालय में एक उत्पादन यूनिट की स्थापना की गई है | यहां पहली यूनिट में बेकरी स्थापित की गई है जिसमे मंडुए के केक, बिस्कुट, मफीन और मल्टीग्रेन ब्रेड बनाए जा रहे हैं |

photo :-uttranews

यह सारा उत्पादन स्थानीय महिलाओं द्वारा किया जा रहा है |उन्हें प्रशिक्षण के साथ ही रोजगार भी मिल रहा है |वही दूसरी यूनिट में फल संरक्षण के लिये स्थानीय सेब की चटनी व जैम बनाए जा रहा है, कीवी का जैम पूरी करे आर्गैनिक रूप से तैयार किया जा रहा है तो पहाड़ में बहुतायत होने वाला माल्टा का स्क्वैश बनाकर इसे बाजार में उपलब्ध कराया जा रहा है |

 

photo :-uttranews

आजीविका परियोजना के परियोजना प्रबंधक कैलाश भट्ट ने कहा कि प्रशासन के सहयोग से आउटलैट उपलब्ध कराए गए हैं | रघुनाथ सिटी माँल में भी ‘ हो दाज्यू’ नाम से आउटलेट व रेस्त्रां खोल दिया गया है | जिलाधिकारी नितिन भदौरिया ने बताया कि स्वालंबन की दृष्टि से यह परिकल्पना की गई है जिससें महिलाओं को रोज़गार से जोड़ा जा रहा है |

स्वावलंबी हाथों का उत्पादन मिलेगा ‘हो दाज्यू कैफे ‘ में

 

 

 

photo :-uttranews

अल्मोड़ा- आजीविका परियोजना के सहयोग से स्थानीय रघुनाथ सिटी माॅल में ‘‘हो दाज्यू’’ के नाम से कैफे की शुरूआत विधानसभा उपाध्यक्ष रघुनाथ सिंह चौहान, जिलाधिकारी नितिन सिंह भदौरिया एवं मुख्य विकास अधिकारी मयूर दीक्षित की उपस्थित में हुई। स्थानीय उत्पादों से निर्मित विभिन्न बेकरी उत्पाद सहित अन्य चीजे इस कैफे में उपलब्ध रहेंगी। इस कैफे में हिलांस ब्रान्ड के नाम से विभिन्न प्रकार के मसाले, जूस,जैम अचार आदि भी यहां पर उपलब्ध रहेंगे। स्थानीय स्तर पर उत्पादित मडुवे के बिस्कुट, केक, ब्रेड, मल्टी ग्रेन बिस्कुट एवं पिज्जा आदि भी इस कैफे में कुशल शैफ द्वारा निर्मित मिलेंगे। हवालबाग स्थित बेकरी इकाई से तैयार किये गये इन उत्पादो को दैनिक आधार पर तैयार किया जायेगा।

इस अवसर पर विधानसभा उपाध्यक्ष ने कहा कि इस इकाई के खुलने से जहां स्थानीय उत्पादो के नया बाजार मिलेगा वहीं दूसरी ओर स्वयं सहायता समूहो को आत्मनिर्भरता की दिशा में बढने हेतु नये आयाम मिलेंगे। उन्होंने जिला प्रशासन एवं आजीविका के इस सराहनीय कदम के लिये प्रसन्नता व्यक्त की। उन्होंने कहा कि इस कैफे का अधिक से अधिक प्रचार-प्रसार किया जाय ताकि लोगों को जानकारी मिल सके। जिलाधिकारी नितिन सिंह भदौरिया ने कहा कि कैफे का उद्देश्य स्थानीय उत्पादो को बढावा देना है इसके साथ-साथ कैफे में उच्च गुणवत्ता, स्वच्छ एवं पौष्टिक बेकरी उत्पादो के साथ-साथ जैम एवं जूस भी उपलब्ध रहेगा जो ग्रामीण महिलाओं द्वारा तैयार किया गया है। परियोजना प्रबन्धक कैलाश भट्ट ने बताया कि यह कैफे प्रगति आजीविका स्वयं सहायता सहकारी संघ द्वारा चलाया जायेगा। उन्होंने इस कैफे के संचालन एवं अन्य गतिविधियों के बारे में बताया। इस अवसर पर जिला सहकारी बैंक के अध्यक्ष ललित लटवाल, देवाशीष नेगी, विनीत बिष्ट, अपर जिलाधिकारी केएस टोलिया, सहायक प्रबन्धक वित्त विक्रम तोमर, मार्केटिंग प्रबन्धक राजेश मठपाल, फूड कन्सल्टेन्ट अंशु पांडे, जिला आपदा प्रबन्धक अधिकारी राकेश जोशी सहित अन्य लोग उपस्थित थे।

Related posts

वियरशिबा की छात्राओं व शिक्षिकाओं ने एसएसबी के जवानों की कलाई में बांधी राखी, जवानों के दीर्घायु की कामना की

Newsdesk Uttranews

रानीखेत के छात्र ने किया क्षेत्र को गौरान्वित, क्षेत्र में हर्ष की लहर, पढ़े पूरी खबर

Newsdesk Uttranews

यह हैं नन्हें उस्ताद (Little master)जो लॉक डाउन के दौरान भी दिखा रहें है वास्तविक रचनात्मकता, खूब मिल रही है तारीफ

Newsdesk Uttranews