उत्तरा न्यूज
अभी अभी पिथौरागढ़

नैनीताल हाईकोर्ट का आदेश भी हुआ बेअसर : धारचूला की व्यास घाटी के लोगों को आज भी नही पहुच सका राशन

 व्यास घाटी के लोगों को आज भी नही जा सका राशन

प्रशासन का रविवार को राशन पहुचांने का दावा

धारचूला तक आने-जाने के लिए शुरू की गई हेली सेवा भी बंद

पिथौरागढ़। विगत गुरूवार को हाईकोर्ट द्वारा सीमांत जनपद पिथौरागढ़ के दूरस्थ क्षेत्र व्यास घाटी व अन्य दूरस्थ इलाकों में 24 घंटे के भीतर राशन पहुचानें के आदेश को पालन करने में प्रशासन नाकाम साबित हुआ है। जिले की व्यास घाटी और अन्य सीमान्त क्षेत्र के लोगों को शनिवार को भी राशन और दैनिक जरूरत का अन्य सामान नहीं मिल पाया। परेशान सीमान्त क्षेत्र के लोगों में मायूसी छाई हुई है। हालांकि जिला प्रशासन ने रविवार से इन क्षेत्रों में हेलीकॉप्टर के माध्यम से खाद्यान्न आपूर्ति की बात कही है।
गौरतलब है कि नैनीताल हाईकोर्ट ने बीते गुरुवार को एक जनहित याचिका पर सुनवाई करते हुए पिथौरागढ़ की धारचूला तहसील के सीमावर्ती व्यास घाटी क्षेत्र के विभिन्न गांवों में 24 घंटे के अंदर राशन और दैनिक जरूरत का अन्य सामान उपलब्ध कराने के निर्देश प्रदेश सरकार को दिये थे। कोर्ट ने राज्य सरकार को इस काम में आईटीबीपी और वायुसेना की मदद लेने को भी कहा था। मगर दो दिन बीतने के बाद भी जिले के बूंदी, गुंजी, लमारी, गर्ब्यांग, चैयालेख, नपल्च्यू, रौंककौंग, नाबि, नाभिढांग, कालापानी और कुटी आदि गांवों में ग्रामीणों को खाद्यान्न सामग्री उपलब्ध नहीं हो पाई है। ऐसे में करीब 9 हजार की आबादी काफी परेशान है और लोगों में मायूसी व गुस्सा बढ़ रहा है।
इन इलाकों को जोड़ने के लिए कोई सड़क मार्ग नहीं है, केवल पैदल रास्ते ही इन इलाकों को जोड़ते हैं, लेकिन बीती बरसात में पैदल रास्ते बुरी तरह टूट चुके हैं। दूसरी ओर घट्टाबगड़ से लिपुलेख तक बीआरओ द्वारा निर्माणाधीन सड़क का मलबा आने के चलते इन इलाकों तक पैदल रास्ते से खाद्यान्न सामग्री पहुंचाना और भी चुनौतीपूर्ण बना हुआ है। ऐसे में लंबे समय से इस सीमान्त क्षेत्र में धारचूला से राशन की सप्लाई ठप है।
ग्रामीण तिब्बत से नेपाल के रास्ते आने वाले खाद्यान्न के सहारे किसी तरह अपनी दैनिक जरूरतें पूरी कर रहे हैं। ग्रामीणों को धारचूला तक आने-जाने के लिए शुरू की गई हेली सेवा भी बंद कर दी गई है। जिसका किराया 31 सौ रुपये प्रति व्यक्ति रखा गया था।
प्रभारी जिलाधिकारी वंदना ने कहा कि व्यास घाटी के इन क्षेत्रों में रविवार से हेलीकॉप्टर के माध्यम से धारचूला से खाद्यान्न की आपूर्ति की जाएगी। उन्होने क्षेत्रवासियों को पहले की भांति निर्धारित किराये पर धारचूला तहसील मुख्यालय तक लाने और ले जाने की बात कही है।

Related posts

बड़ी खबर :- आज हो सकता है लोकसभा चुनावों की तारीखों का एलान 5 बजे बुलाई प्रेस कांफ्रेंस !

Pithoragarh जा रहे है तो यह खबर जरूर पढ़े, सुबह 8 बजे तक गुरना मंदिर नही पहुंचे तो करना होगा लंबा इंतजार

Newsdesk Uttranews

व्यापार मंडल अल्मोड़ा द्वारा आयोजित हुआ कोरोना corona रैपिड टेस्ट कैम्प

Newsdesk Uttranews