उत्तरा न्यूज
अल्मोड़ा उत्तराखंड

अनावश्यक रूप से रैफर न किया जाय मरीजों को :- भदौरिया

अनावश्यक रूप से रैफर न किया जाय मरीजों को :- भदौरिया

डीएम ने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को दी हिदायत
अल्मोड़ा- डीएम नितिन सिंह भदौरिया ने अस्पतालों में आने वाले मरीजों को अनावश्यक रूप से रैफर नहीं करने के निर्देश दिए|
उन्होंने साफ किया कि अगर कहीं से मरीजों को रैफर करने की शिकायत प्राप्त होती है तो उसे गम्भीरता से लिया जायेगा।
स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के साथ समीक्षा बैठक के दौरान उन्होंने कहा कि विभिन्न माध्यमों से शिकायतें प्राप्त हो रही है कि चिकित्सालयों में मरीजों को अनावश्यक रैफर किया जा रहा है जो उचित नहीं है। उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश दिये कि रैफरल के मामलों की समीक्षा अपने स्तर पर करें और यह सुनिश्चित करें की विशेष परिस्थितियों को छोड़कर मरीजों को रैफर न किया जाय।
जिलाधिकारी ने समस्त चिकित्साधिकारियों को निर्देश दिये कि चिकित्सालयों में ओ0पी0डी0 के दौरान सभी डाक्टर समय पर उपस्थित हों इसका भी विशेष ध्यान रखें। उन्होंने कहा कि स्वयं मेरे द्वारा समस्त चिकित्सालयों का औचक निरीक्षण किया जायेगा। चिकित्सालयों में दवाईयों की उपलब्धता सहित स्टाक रजिस्ट्रर अद्यतन रहें। उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश दिये कि वर्ष भर में चलाये जा रहे विभिन्न कार्यक्रमों का कलैण्डर तैयार करें। इसके साथ ही उन्होंने निर्देश दिये कि 15 अगस्त से पूर्व जनपद स्थित समस्त निजी एवं राजकीय चिकित्सालयों का नैदानिक स्थापना रजिट्रेशन विनियमन अधिनियम 2010 के अन्तर्गत पंजीकरण करवाना सुनिश्चित करें।
जिलाधिकारी ने प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक महिला चिकित्सालय को निर्देश दिये कि महिला चिकित्सालय  में गर्भवती महिलायें जो दूरस्थ क्षेत्रों से आती है उन्हें अनावश्यक परेशानी न हो इसके लिये एक वेटिंग हाल बनाने हेतु जगह देखे जिसमें उनकी सुविधा अनुसार बेड आदि लाये जा सके। बैठक में बताया गया कि जनपद बागेश्वर, पिथौरागढ़ सहित अन्य जगहो से भी गर्भवती महिलाओं के मामले यहां रैफर होते हैं जो पहले से ही गम्भीर स्थिति में होते है जिस कारण यहां आकर यह मामलें और अधिक गम्भीर हो जाते है। इसके लिये जिलाधिकारी ने कहा कि मेरी ओर से एक पत्र जिलाधिकारी बागेश्वर व पिथौरागढ़ को भेजा जाय जिसमें मरीजों की केस हिस्ट्री अवश्य अंकित कराने हेतु अनुरोध किया जाय। उन्होंने कहा कि रक्त कोष में रक्त की कमी न हो इसके लिये रक्त दाताओं का व्हाट्सऐप ग्रुप बनाये ताकि जरूरत पड़ने पर रक्तदाता उपलब्ध हो सके।
इस दौरान उन्होंने कहा कि राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के कार्यक्रमों को दूरस्थ क्षेत्रों तक प्रचारित करने हेतु अधिकारी क्षेत्र भ्रमण कर सर्वे करें। उन्होंने पीसीपीएनडीटी द्वारा इस वर्ष में किये गये निरीक्षणों की आख्या भी प्रस्तुत करने को कहा। बैठक में उन्होंने टीकाकरण एवं राष्ट्रीय बाल स्वास्थ्य कार्यक्रम की जानकारी ली और कहा कि विद्यालयों में बच्चों का नियमित स्वास्थ्य परीक्षण हो इसके लिये प्रधानाचार्यों द्वारा सत्यापित रिर्पोट प्रस्तुत करने के निर्देश दिये। बैठक में उन्होंने बेस चिकित्सालय स्थित खराब पड़ी सीटी स्कैन मशीन की अद्यतन स्थिति जानी और कहा कि इस मशीन को पुनः संचालित किये जाने हेतु जनपद स्तर पर क्या कार्यवाही की जा रही है इसके बारे में जाना साथ ही उन्होंने मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश दिये कि सम्बन्धित इंजीनियर को बुलाकर उनसे बात कर लें। इसके साथ ही बेस चिकित्सालय में डायलेसिस मशीन के स्थापित किये जाने के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त की। उन्होंने रेडक्रास सोसाइटी की नई जिला स्तरीय समिति गठित करने के लिये जो भी आवश्यक कार्यवाही की जानी है उसे एक सप्ताह के भीतर पूर्ण करने के निर्देश समिति के सचिव को दिये।
इस बैठक में मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 विनीता शाह ने आश्वस्त किया कि उनके द्वारा दिये गये निर्देशों का अनुपालन कडाई से किया जायेगा। इस अवसर पर प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक जिला चिकित्सालय डा0 निशा पाण्डे, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक डा0 प्रकाश वर्मा, महिला चिकित्सालय डा0 डी0एस0 गब्र्याल, अपर मुख्य चिकित्साधिकारी डा0 सविता हंयाकी, डा0 ए0के0 सिंह, डा0 योगेश पुरोहित, प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक बेस डा0 टी0डी0 रखोलिया, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक गोविन्द सिंह मेहरा रा0 चि0 रानीखेत डा0 डी0एस0 नेई सहित स्वास्थ्य विभाग के अन्य अधिकारी उपस्थित थे

Related posts

Cbse result- शत प्रतिशत रहा न्यू माँर्डन पब्लिक स्कूल अल्मोड़ा का परिणाम

रावण, कलयुगी रावणों से कहता …..!

Newsdesk Uttranews

Uttarakhand- 30 लाख रुपये की अवैध शराब के साथ दो दबोचे, वाहन सीज

Newsdesk Uttranews