उत्तरा न्यूज
अभी अभी उत्तराखंड पिथौरागढ़

अश्रुपूर्ण आंखों से दी अंतिम विदाई

शोक में बंद रहा गंगोलीहाट बाजार 

रामेश्वर घाट में हुआ अंतिम संस्कार

पिथौरागढ़। कुछ रोज पूर्व नागालैंड में आतंकियों से मुठभेड़ में शहीद हुए गंगोलीहाट निवासी जवान गोपाल सिंह मेहरा का शुक्रवार को रामेश्वर घाट में गमगीन माहौल में अंतिम संस्कार कर दिया गया। मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने जवान की शहादत को नमन करते हुए उनके परिजनों को सांत्वना दी है। और हरसंभव मदद करने का आश्वासन दिया है। नवागंतुक जिलाधिकारी विजय कुमार जोगदंडे भी शहीद को श्रद्धांजलि अर्पित करने रामेश्वर पहुंचे। शोक में शुक्रवार को व्यापार संघ गंगोलीहाट के आह्वान पर व्यापारियों ने अपने प्रतिष्ठान बंद रखे।

 मूल रूप से पिथौरागढ़ जिले की गंगोलीहाट तहसील के ग्राम जजौली निवासी 49 वर्षीय गोपाल सिंह मेहरा पुत्र त्रिलोक सिंह आसाम राइफल्स में तैनात थे। उनका परिवार कुछ वर्षों से ऊधम सिंह नगर जिले के दिनेशपुर में रह रहा था। इन दिनों जवान गोपाल सिंह की ड्यूटी नागालैंड में थी। कुछ रोज पूर्व आतंकवादियों से लोहा लेते हुए गोपाल सिंह शहीद हो गए। शुक्रवार को पूर्वान्ह करीब 11.30 बजे उनका पार्थिव शरीर उनके पैतृक गांव जजौली लाया गया।

 

शहीद के पार्थिव शरीर को देखकर परिजन चीत्कार कर उठे और वहां मौजूद क्षेत्र के लोगों की आंखें नम हो गईं। इस दौरान गंगोलीहाट विधायक मीना गंगोला, कई स्थानीय जनप्रतिनिधि और अधिकारी शहीद के अंतिम दर्शन करने उनके पैतृक आवास पर पहुंचे। करीब 12 बजे शहीद गोपाल सिंह के पार्थिव शरीर को अंतिम संस्कार के लिए पिथौरागढ़ जिले की सीमा पर स्थित रामेश्वर घाट के लिए ले जाया गया। रामेश्वर घाट में शहीद के पार्थिव शरीर पर जिलाधिकारी विजय कुमार, गंगोलीहाट के संयुक्त मजिस्ट्रेट सौरभ गेहरवाल, सेना अधिकारियों आदि ने पुष्प चक्र अर्पित किये। सेना की टुकड़ी ने शहीद गोपाल सिंह को अंतिम सलामी दी। शोकाकुल माहौल में शहीद का अंतिम संस्कार किया गया।

Related posts

मनीआगर में आयोजित किया गया निशुल्क स्वास्थ्य शिविर

Newsdesk Uttranews

बड़ी खबर: पिथौरागढ़ के गंगोलीहाट कस्बे में भारी मात्रा में शराब बरामद ,550 से 600 तक पेटियां होने का अनुमान

Newsdesk Uttranews

परिवर्तन- फिर से मध्यप्रदेश में भाजपा सरकार, शिवराज सिंह चौहान ने ली शपथ

Newsdesk Uttranews