उत्तरा न्यूज
अभी अभी रानीखेत

चिकित्सा प्रबंधन समिति की बैठक में डीएम नितिन भदौरिया के सख्त निर्देश, बाहर से दवा लिखी तो होगी कार्रवाई

रानीखेत सहयोगी| बाहर से आने वाले मरीजों को किसी प्रकार की असुविधा न हो हमें इस बात का विषेष ध्यान देना होगा। यह बात जिलाधिकारी नितिन सिंह भदौरिया ने चिकित्सा प्रबन्धन समिति गोविन्द सिंह महरा राजकीय चिकित्सालय रानीखेत संचालक मण्डल की अध्यक्षता करते हुये कही।उन्होंने डाक्टरों से मरीजों को अपरिहार्य स्थिति आने तक बाहर से दवा नहीं लिखने की हिदायत दी| उन्होंने मुख्य चिकित्सा अधीक्षक को निर्देष दिये कि चिकित्सालय में दवाईयों की उपलब्धता, सफाई व मरीजों को दिये जाने वाले भोजन आदि की व्यवस्थाओं को दुरूस्त रखा जाय ताकि लोगों को किसी प्रकार की असुविधा का समाना न करना पडे।
बैठक में समिति के सदस्यों द्वारा जिलाधिकारी को अवगत कराया कि चिकित्सालय में खराब पडी डिजिटल एक्स रे, सीआर्म मशीन को ठीक करने, दन्त चिकित्सक, ईएनटी चिकित्सक न होने आदि समस्याओं से अवगत कराया। जिलाधिकारी ने इन कार्याें के लिये एक समिति गठित करने के निर्देष दिये और कहा कि इस बात पर विशेष ध्यान दिया जाय कि समिति में चिकित्सा प्रबन्धन समिति के सदस्य जरूर शामिल हो| उन्होंने इस अवसर पर राजकीय जिला चिकित्सालय की सुरक्षा दीवार के निर्माण हेतु तुरन्त आगणन तैयार करने के निर्देश दिए ताकि कार्य समय से प्रारम्भ किया जा सके।
जिलाधिकारी ने मुख्य चिकित्सा अधिकारी को निर्देश दिये कि रानीखेत चिकित्सालय में दन्त रोग के अधिक मरीजों को देखते हुए वहां पर भिकियासैण में तैनात दन्त चिकित्सक को सप्ताह में 2 दिन रानीखेत में बैठने के निर्देश तुरन्त जारी करे ताकि मरीजों को इस परेशानी से निजात मिल सके। उन्होंने इस अवसर पर चिकित्सालय में जो भोजन व्यवस्था हेतु जो कैन्टीन संचालित की जा रही है उन व्यवस्थाओं पर नाराजगी व्यक्त करते हुये कहा कि मुख्य चिकित्सा अधीक्षक समय-समय पर इन व्यवस्थाओं पर निगरानी रखेंगे यदि अनुबन्ध के अनुसार व्यवस्थायें सही नही पायी जाती है तो इसकी रिर्पोट प्रस्तुत करे और भोजन की व्यवस्था सही बनी रहे इसके लिये ठोस निर्णय लेने होंगे ताकि मरीजो को किसी प्रकार की असुविधा न होने पाये। जिलाधिकारी ने चिकित्सालय में सफाई व्यवस्था को दुरूस्त रखने और जो सामान निष्प्रोज्य है उसकी नीलामी की कार्यवाही अमल में लाने के निर्देश भी दिये।
बैठक में जिलाधिकारी ने कहा कि राष्ट्रीय परिवार कल्याण कार्यक्रम के अन्तर्गत जनपद में 21 नवम्बर से 04 दिसम्बर 2018 तक पुरूष नसबन्दी पखवाड़े का आयोजन किया जा रहा है इसके लिये लोगों को अधिक से अधिक जागरूक किया जाय। इस अवसर पर मुख्य चिकित्सा अधीक्षक ने जिलाधिकारी को आश्वस्त किया उनके द्वारा दिये गये निर्देशों का अनुपालन कड़ाई किया जायेगा। इस अवसर पर बजट पर भी जिलाधिकारी ने विशेष चर्चा की और निर्देश दिये कि जो भी सामान क्रय किया जाय उसमें उत्तराखण्ड अधिप्राप्ति नियमावली का विशेष ध्यान रखा जाय साथ ही वित्तीय मामलों में कोषाधिकारी की सहमति अवष्य प्राप्त कर ली जाय। उन्होंने निर्देष दिये कि अभिलेखों का रख-रखाव सही ढ़ग से किया जाय।
इस अवसर पर समिति के सदस्यों ने महत्वपूर्ण सुझाव दिये जिस पर जिलाधिकारी ने कहा कि उनके सुझावों पर विशेष ध्यान दिया जायेगा। इस अवसर पर संयुक्त मजिस्ट्रेट रानीखेत हिमाशु खुराना, विधायक प्रतिनिधि रानीखेत दीपक पंत, सांसद प्रतिनिधि दीप भगत, तहसीलदार नितेश डांगर, मुख्य चिकित्साधिकारी डा विनीता साह,कोषाधिकारी कमलेश भण्डारी, मुख्य चिकित्सा अधीक्षक रानीखेत डा. डीएस नेई, डा आरके सागार, डा0 महेष चन्द्रा, दीप भट्ट, वरिष्ठ प्रषासनिक अधिकारी पूरन सिंह अधिकारी सहित अन्य लोग उपस्थित थे।

Related posts

75th-independence-day-देश भर में धूमधाम से मनाया गया स्वतंत्रता दिवस, प्रधानमंत्री मोदी ने ​लाल किले पर फहराया तिरंगा

Newsdesk Uttranews

उत्तराखंड मुक्त विश्वविद्यालय (UOU) ने विद्यार्थियों के लिए जारी की अहम सूचना, पढ़ें पूरी खबर

उत्तरा न्यूज टीम

सड़क की मांग को लेकर एरोली बाशिंदो की दो टूक रोड नहीं तो वोट नहीं