उत्तरा न्यूज
अभी अभी उत्तराखंड संस्कृति

Harela -ऋतु परिवर्तन का त्यौहार हरेला

Harela

उत्तराखण्ड का  लोक त्यौहार हरेला (Harela) ऋतु परिवर्तन के साथ जुड़ा हुआ है। यह पर्व नई ऋतु के शुरु होने की सूचना देता है, उत्तराखण्ड में तीन ऋतुओं ग्रीष्म और वर्षा और शीत ऋतुओं को हरेला पर्व मनाया जाता है।

uru biology
https://uttranews.com/how-to-use-maadhaar-app-of-uidai/

हरेले का त्यौहार हिन्दी सौर पंचांग की तिथियों के अनुसार मनाया जाता है, ग्रीष्म ऋतु की शुरुआत चैत्र के महीने से होती है और नवमी को हरेले (Harela) का त्यौहार मनाया जाता है।

https://uttranews.com/twitter-accounts-hacked-and-demands-bitcoin/

वर्षा ऋतु की शुरुआत श्रावण (सावन) महीने से होने के कारण एक गते, श्रावण को हरेला मनाया जाता है। शीत ऋतु की शुरुआत आश्विन मास से होती है और इसी के अनुसार आश्विन मास की दशमी को हरेला मनाया जाता है।

Harela

ऋतु की सूचना को सुगम बनाने और कृषि प्रधान क्षेत्र होने के कारण ऋतुओं का स्वागत करने की परम्परा प्राचीन समय से उत्तराखण्ड में रही है और इसी अनुसार तीनो ऋतुओं में हरेला (Harela)बोया जाता रहा है। चैत्र मास के प्रथम दिन हरेला बोया जाता है और इसे नवमी को काटा जाता है।

वही श्रावण मास लगने से नौ दिन पहले आषाढ़ मास में हरेला बोया जाता है और 10 दिन बाद काटा जाता है। आश्विन मास में नवरात्र के पहले दिन बोया जाता है और दशहरे के दिन काटा जाता है। हरेला घर मे सुख, समृद्धि व शान्ति के लिए बोया व काटा जाता है। हरेला अच्छी कृषि का सूचक है, हरेला इस कामना के साथ बोया जाता है कि इस साल फसलो को नुकसान ना हो। हरेले के साथ जुड़ी ये मान्यता भी है कि जिसका हरेला (Harela)जितना बडा होगा उसे कृषि मे उतना ही फायदा होगा।

उत्तरा न्यूज की खबरें व्हाट्सएप पर सबसे पहले पाने के लिए 9456732562, 9412976939, 9639630079 पर फीड लिख कर भेंजे|

आप हमारे फेसबुक पेज ‘उत्तरा न्यूज’ व न्यूज ग्रुप uttra news से भी जुड़कर अपडेट प्राप्त करें| click to like facebook page

यूट्यूब पर सबसे पहले अपडेट पाने के लिए youtube पर uttranews को सब्सक्राइब करें। click to see videos

उत्तरा न्यूज के टेलीग्राम चैनल को ज्वाइन करें

https://t.me/s/uttranews1

Related posts

अल्मोड़ा बेस अस्पताल (Base Hospital) में अब होगा डिजिटल एक्स—रे, सांसद अजय टम्टा ने मोबाईल डिजिटल एक्स-रे मशीन का किया उद्घाटन

UTTRA NEWS DESK

अनहोनी:- चौखुटिया नहाने के दौरान रामगंगा में डूबे चचेरे भाई,मौत,क्षेत्र में शोक की लहर

मछली मारने के लिए सरयु नदी में डाला करंट दो युवकों की दर्दनाक मौत

Newsdesk Uttranews