उत्तरा न्यूज
अभी अभी बिजनेस

ब्रेकिंग : एसबीआई सर्वर पर पासवर्ड लगाना गया भूल : अब 30 लाख ग्राहकों को पासवर्ड बदलने के आ रहे मैसेज

SBI

अगर आपका खाता भारतीय स्टेट बैंक में है और आप नेट बैकिंग का उपयोग करते है और आपका भी बैंक खाता स्टेट बैंक ऑफ इंडिया में है तो आप अपना नेट बैकिंग का पासवर्ड बदल ले। एसबीआई की गलती के कारण लाखो ग्राहकों का डाटा लीक हो गया है क्योंकि एसबीआई का सर्वर कई दिनो तक बिना पासवर्ड के रहा। एक अनुमान के मुताबिक 30 लाख ग्राहकों का डाटा लीक होने की संभावना है। हालांकि अब बैंक ने अपने सर्वर को पासवर्ड से सिक्योर करने का दावा किया है।

क्या है एसबीआई क्विक (SBI Quick)

भारतीय स्टेट का सर्वर मुंबई में है। और इस सर्वर में एसबीआई क्विक (SBI Quick) का दो महीने का डेटा रखा है। एसबीआई क्विक के माध्यम से बैंक से जुड़े खाता धारक एसएमएस और फोन कॉल के माध्यम से अपने खाते से जुडी बेसिक जानकारी ले सकते है। जिन ग्राहकों के पास स्मार्टफोन नही वह एसबीआई क्विक के माध्यम से मैसेज कर अकाउंट बैलेंस,खाते में किये अंतिम पांच ट्रांजेक्शन जान सकते है। साथ ही ATM कार्ड को ब्लॉक कर सकते है।
जानकारी मिली है कि लापरवाही की वजह से सर्वर को पासवर्ड से प्रोटेक्ट नही किया गया था। और पासवर्ड के ना होने से कोई भी जानकारी को एक्सेस कर सकता हैै। यदि किसी हैकर को पता हो कि डाटा पासवर्ड सिक्योर नही है तो वह आसानी से इससे जुड़ी जानकारी प्राप्त कर सकता है। सर्वर के पासवर्ड प्रोटेक्टेड ना होने का पता एक सिक्योरिटी रिसर्चर को पता चला और उसने इसकी जानकारी एक अमेरिकी वेबसाइट टेकक्रंच को दी। रिसर्चर ने अपना नाम गुप्त रखने की टेकक्रंच से गुजारिश भी की।
टेकक्रंच की रिपोर्ट में दावा किया गया है कि बैंक का सर्वर को बिना पासवर्ड के रहा और बिना पासवर्ड के कोई भी ग्राहकों की निजी जानकारी को आसानी से प्राप्त कर सकता है। टेकक्रंच की रिपोर्ट के अनुसार संभव है कि खाताधारकों की जानकारी लीक हो सकती हैं।

क्या है टेकक्रंच की रिपोर्ट में

टेकक्रंच की रिपोर्ट के अनुसार एसबीआई का मुंबई डाटा सेंटर का सर्वर पासवर्ड प्रोटेक्टेड नही था। रिपोर्ट में एसबीआई क्विक के डाटा की जानकारी लीक होने का भी दावा किया गया है।

रिपोर्ट के अनुसार बैंक के सर्वर पर पासवर्ड नहीं लगा हुआ था और उसी दौरान बैंक के ग्राहकों को मैसेज भेजे गये थे। रिपोर्ट में दावा किया गया है कि सोमवार को ही बैंक द्धारा लगभग 30 लाख ग्राहकों को मैसेज भेजे गये। पासवर्ड अनप्रोटेक्ट होने के बाद इस मामले पर स्टेट बैंक ऑफ इंडिया ने अपने बयान में सर्वर को ​पासवर्ड से सिक्योर करने की बात कही है।

Related posts

अल्मोड़ा में सीएए के समर्थन बीजेपी ने आयोजित किया प्रबुद्ध सम्मेलन,कहा सीएए शोषितों के हित में

Newsdesk Uttranews

National wide strike मजदूर संगठनों समेत बैंकिंग कर्मचारी यूनियनों की राष्ट्रव्यापी हड़ताल आज, किसान संगठनों का भी दिल्ली कूच

Newsdesk Uttranews

पश्चिम बंगाल में 15 जुलाई तक के लिए बढ़ी पाबंदी

Newsdesk Uttranews