उत्तरा न्यूज
अभी अभी पिथौरागढ़ प्रौद्योगिकी

साइंस आउटरीच कार्यक्रम में छात्रों को दी गयी रोचक जानकारिया

जीवन और विज्ञान के सवालों पर छात्रों की जिज्ञासा को किया शांत किया

पिथौरागढ़। हिमालय ग्राम विकास समिति के तत्वावधान में नगर के एक बैंक्वेट हाॅल में दो दिवसीय साइंस आउटरीच कार्यक्रम संपन्न हो गया है। शनिवार को अंतिम हिमालय की उत्पत्ति, जलवायु परिवर्तन के प्रभाव और मानव मस्तिष्क आदि विषयों पर छात्र-छात्राओं ने
सीएसआईआर बंगलुरू से आए प्रो. विनोद कुमार गौड़ ने ‘‘ क्या संसार में हिमालय ही सबसे ऊंचा हैए पृथ्वी के अंदर के रहस्य जैसी जानकारियों के बारे में छात्रों को बताया।

उन्होंने बताया कि किस प्रकार वैज्ञानिक इन सब बातों का अध्ययन करते हैं और किस तरह विज्ञान ने तरक्की करते हुए संसार के तमाम रहस्यों से पर्दा उठाया है। इससे पहले पंतनगर विश्वविद्यालय के प्रो. आनंद सिंह जीना ने जलवायु और जैव विविधता पर छात्रों के साथ चर्चा करते हुए बताया कि किसी प्रकार जलवायु परिवर्तन से होने वाले दुष्प्रभावों से बचा जा सकता है और किस तरह विज्ञान के माध्यम से इनको कम किया जा सकता है।
राष्ट्रीय मानसिक स्वास्थ्य विज्ञान बंगलुरू की प्रो. प्रीति जोशी ने शनिवार को कार्यक्रम के दूसरे दिन भी मानव मस्तिष्क की संरचना एवं उसकी कार्यप्रणाली पर जानकारी दी और मानसिक व स्नायु रोगों के बारे में बताया। प्रो. केएस वल्दिया ने मेरा देश मेरा गांव विषय पर बात रखते हुए छात्रों को वैज्ञानिक सोच के साथ समाज को सकारात्मक योगदान देने के लिए प्रेरित किया। इस दौरान प्रो. गौड़ ने विवेकानंद विद्या मंदिर और एलडब्ल्यूएस बालिका इंटर काॅलेज में जाकर विद्यार्थियों को विज्ञान के प्रति जागरूक किया।

कार्यक्रम के अंतिम सत्र में छात्रों और देशभर से आए वैज्ञानिकों के बीच परस्पर संवाद भी आयोजित किया गया। समापन करते हुए जिला शिक्षा अधिकारी डा. अशोक कुमार गुसांई ने कहा कि साइंस आउटरीच जैसे कार्यक्रमों का निरंतर आयोजन किया जाना चाहिए। समिति के राजेंद्र सिंह बिष्ट ने वैज्ञानिकों, छात्रों-अध्यापकों आदि को धन्यवाद दिया। कार्यक्रम का संचालन किशोर चंद्र पाटनी और दिनेश भट्ट ने किया।

Related posts

बड़ी खबर- प्रदेश के प्राथमिक विद्यालयों में भी नियुक्त होंगे अतिथि शिक्षक

Newsdesk Uttranews

सोमेश्वर में आयोजित हुई दौड़ भुला दौड़ प्रतियोगिता, सूरज रहे पहले स्थान पर

Newsdesk Uttranews

उत्तराखंड (Uttarakhand) के सरकारी स्कूलों में प्राइमरी स्तर तक के छात्र होंगे बिना परीक्षा के पास

Newsdesk Uttranews