उत्तरा न्यूज
अभी अभी प्रौद्योगिकी

अब शराबियों की खैर नही शराबी वाहन चालकों की पहचान करने वाली डिवाइस बना डाली एक बेटी ने

उत्तरा न्यूज डेस्क
शराब पीकर ड्राइविंग करना वाहन दुर्घटना के एक प्रमुख कारण के रूप में सामने आया है। लेकिन एक खबर ऐसी है जिससे इस पर लगाम लग सकती है। अगर ऐसा हो गया तो वाहन पीकर शराब चलाने पर वाहन खुद ब खुद बंद हो जायेगा। दरअसल बिहार की बेटी ऐश्वर्य प्रिया ने एक ऐसी डिवाइस इजाद की है जो शराबियों पर नकेल कस सकती है। मूलतः बिहार की रहने वाली ऐश्वर्य प्रिया फिलहाल मध्य प्रदेश की राजधानी भोपाल के लक्ष्मी नारायण कॉलेज ऑफ टेक्नोलॉजी एंड साइंस से बीटेक कर रही है । ऐश्वर्य ने आईएएनएस को बताया कि कई महीनों तक लगातार प्रयासों से उन्हे यह सफलता प्राप्त हुई है।

इस डिवाइस से अल्कोहल की पहचान हो सकती है और इस डिवाइस को वाहन में लगाने पर यदि शराब पीया कोई व्यक्ति वाहन चलायेगा तो वाहन खुद ही बंद हो जायेगा। ऐश्वर्य ने इस डिवाइस का नाम अल्कोहल डिटेक्टर एवं आटोमेटिक इंजन लाकिंग सिस्टम’ रखा है। डिवाइस के बारे में ऐश्वर्य प्रिया ने बताया कि इसे आसानी से वाहनो के डेस्क बोर्ड पर लगा सकते और इस डिवाइस में एक तार वाहन की बैटरी से और दूसरा तार गाड़ी के इंजन में कनैक्ट होता है। और जब वाहन चालक शराब पीकर गाड़ी चलाएगा तो डिवाइस में लगाया गयी एल्कोहल डिटेक्टर मशीन उसकी सांसों से आ रही अल्कोहल की सुगंध को पहचान लेगा और इंजन बंद हो जायेगा। और शराब का सेवन किया व्यक्ति जब तक वाहन से नही उतरेगा तब तक वाहन स्टार्ट तक नही होगा।

ऐश्वर्या ने बताया कि अभी तक शराबी को पहचान के लिए ब्रेथलाइजर मशीन को मुंह में लगाया जाता है. लेकिन इस नई डिवाइस कों मुंह में लगाने की जरूरत ही नहीं पड़ती यह एडवांस डिवाइस सांस से ही अल्कोहल को डिटेक्ट कर देगा। इस डिवाइस अल्कोहल का लेबल भी पता लागया जा सकता है। ऐश्वर्या ने कहा कि यदि सरकार इस डिवाइस का सभी वाहनो के लिये अनिवार्य कर दे तो तो इससे शराब पीने के कारण होने वाली दुर्घटनाओं को रोका जा सकता है।

पूर्णिया जिला में पत्रकार रवि गुप्ता की बेटी ऐश्वर्य के इस डिवाइस की मध्य प्रदेश और बिहार में काफी चर्चा है। ऐश्वर्य के पिता ने आईएनएस को बताया कि यदि सरकार वाहनों में इस यंत्र का इस्तेमाल करना जरूरी बना दे तो तो शराब पीकर कोई भी गाड़ी नहीं चला पाएगा। इस डिवाइस से आये दिन शराब के सेवन के कारण होने वाली दुर्घटनाओं पर लगाम लग सकेगी। ऐश्वर्य ने अपनी इस सफलता का श्रेय अपने पिता रवि गुप्ता व माता इंदु देवी को दिया है। ऐश्वर्य के इस डिवाइस के आविष्कार को  पुणे में राष्ट्रीय स्तर की इनोवेटिव मॉडल एवं प्रोजेक्ट प्रतियोगिता में पहला स्थान प्राप्त हुआ।

Related posts

Almora Breaking – गर्भवती महिला को रैफर करने पर हंगामा,परिजनों ने लगाया जबरदस्ती रैफर करने का आरोप

Newsdesk Uttranews

हाथरस कांड (hathras): पर्यावरण मित्रों और बसपा कार्यकर्ताओं ने किया प्रदर्शन

Newsdesk Uttranews

जल जीवन मिशन (jal jeevan mishan): एक भी घर जल संयोजन से छूटा तो संबंधित अधिकारी के खिलाफ होगी कार्रवाई: डीएम

Newsdesk Uttranews