उत्तरा न्यूज
अभी अभी पिथौरागढ़

व्यापारियों, डॉक्टरों ने किया प्रदर्शन

पिथौरागढ़। झूठी शिकायत किये जाने का आरोप लगाते हुए यहा प्रांतीय उद्योग व्यापार मंडल ने चिकित्सकों के साथ बुधवार को कलक्ट्रेट में प्रदर्शन किया। प्रदर्शन के बाद एसपी से मिलकर झूठी शिकायत की जांच कर आरोपी के खिलाफ कार्रवाई की मांग की गई। व्यापार मंडल के अध्यक्ष शमशेर महर, उपाध्यक्ष आशीष सौन, महासचिव संतोष सिंह बिष्ट और सीएमएस डॉ. आरसी पुनेड़ा के नेतृत्व में बुधवार को व्यापारी व चिकित्सक कलक्ट्रेट पहुंचे। प्रदर्शन के बाद व्यापारियों व चिकित्सकों ने पुलिस अधीक्षक राजगुरु को मामले से संबंधित ज्ञापन सौंपा।

इस दौरान व्यापार मंडल के महासचिव संतोष बिष्ट ने कहा कि बीती 18 सितंबर को आनन्द डमडियाल नाम के व्यक्ति ने एक झूठा शिकायत पत्र एसपी को दिया, जिसमें उसने कहा है कि 1 सितंबर को संतोष बिष्ट ने उसे जान से मारने की धमकी देते हुए जाति सूचक शब्दों का प्रयोग किया, जो सरासर झूठ है। संतोष बिष्ट का कहना है कि उस दिन न तो में आनन्द डमडियाल से मिला और न ही इस संबंध में कोतवाली पिथौरागढ़ में गया था। व्यापारी नेता बिष्ट का कहना है कि आरोप लगाने वाले ने 10 अगस्त को जिला अस्पताल के दन्त रोग विशेषज्ञ डॉ. ऋषिकेश जोशी के साथ अभद्रता व हाथापाई की। जिस पर आनन्द डमडियाल के खिलाफ 11 अगस्त को कोतवाली पिथौरागढ़ में शिकायत की गई। बिष्ट के अनुसार इस शिकायत पत्र को देने वह भी डॉ. जोशी के साथ कोतवाली गए थे, जिस कारण उनके खिलाफ रंजिशन झूठा आरोप लगाया जा रहा है। यही नहीं आरोप लगाने आनन्द डमडियाल को 29 अक्टूबर वर्ष 2016 में पिथौरागढ़ बाजार में नकली खाद्य सुरक्षा अधिकारी बनकर व्यापारियों को परेशान करते हुए उन्होंने और कुछ अन्य व्यापारियों ने पकड़ा था और पुलिस के हवाले किया था। इन सब वजहों से उनके खिलाफ झूठी शिकायतें की जा रही हैं।

व्यापारियों व चिकित्सकों ने इस मामले की जांच कर न्याय करने और दोषियों पर कार्रवाई करने की मांग की है। प्रदर्शन व एसपी से मिलने वालों में व्यापारी नेता पवन जोशी, जनक जोशी, प्रांतीय उद्योग व्यापार मंडल के संयुक्त सचिव दिनेश कापड़ी, कोषाध्यक्ष मनीष चौधरी, जिला अस्पताल पिथौरागढ़ के पूर्व सीएमएस डॉ. एचएस खड़ायत, डॉ. ऋषिकेश जोशी तथा अनेक व्यापारी शामिल थे। वहीं इससे पूर्व मंगलवार को बसपा से जुड़े लोगों ने पार्टी जिलाध्यक्ष राजेश कुमार के नेतृत्व में कलक्ट्रेट में प्रदर्शन कर जिला अस्पताल के डॉक्टर पर झूठा मुकदमा दर्ज करने का आरोप लगाया। इस संबंध में डीएम, एसपी को भी ज्ञापन प्रेषित कर प्रकरण की जांच की मांग की गई थी।

Related posts

स्याल्दे में कविताओं के माध्यम से उठाए ज्वलंत मुद्दे

Almora- कोरोना मरीजों(Corona) के तीमारदारों की निशुल्क रहने व भोजन की व्यवस्था कर रहा यह युवक

Newsdesk Uttranews

जंगल में पशुओं के लिए घास काट रही महिला को सांप ने डसा, अस्पताल में भर्ती

Newsdesk Uttranews