उत्तरा न्यूज
अभी अभी अल्मोड़ा

इस शाम की सुबह हुई, अल्मोड़ा के शिशु सदन में पल रही बच्ची को स्पेन में मिली ममता की छांव

अल्मोड़ा : अल्मोड़ा के शिशु सदन में तीन साल से रह रही एक मासूम को आखिरकार ममता की छांव मिल ही गई, स्पेन के एक दंपत्ति ने इस बच्ची को गोद लिया है। शनिवार को जरूरी औपचारिकताएं पूरी करने के बाद बच्ची को इस दंपत्ति को सौंपा गया, अब बच्ची का पासपोर्ट बनने के बाद दंपत्ति उसे लेकर स्पेन लौट जाएगा।
मालूम हो कि अल्मोड़ा के शिशु सदन में करीब पिछले तीन साल से यह बच्ची रह रही थी अपनों से दूर माता पिता के स्नेह से अनजान यह बच्ची सरकारी संरक्षण में पल रही थी| शायद नियति उसे ममता की छांव देने को तैयार थी जिसे गोद लेने के लिए स्पेन के दंपत्ति जार्ज कोलेर रिडोंडा और उनकी पत्‍‌नी अगाधा तिराड़ो बोफील ने सेंट्रल एडोपशन रिसोर्स अथाँरिटी के माध्यम से आवेदन किया था। विदेशी दंपत्ति के आवेदन के बाद इस दंपत्ति ने अन्य औपचारिकताएं पूरी की और जांच के बाद कमेटी की स्वीकृति के बाद नन्हीं परी को इस दंपत्ति को सौंप दिया गया। शिशु सदन से प्राप्त जानकारी के मुताबिक बच्ची के पासपोर्ट के लिए दंपत्ति ने आवेदन किया है। तीन या चार दिन में पासपोर्ट बनने के बाद नन्हीं परी इस दंपत्ति के साथ स्पेन रवाना हो जाएगी। फिलहाल यह दंपत्ति नगर के एक होटल में रूका हुआ है। शिशु सदन के अधिकारियों ने बताया कि बच्ची को गोद देने से पहले दंपत्ति के बारे में पूर्ण जानकारी ली गई है। नन्हीं परी को स्पेन के दंपत्ति द्वारा गोद लेने के बाद अब इस मासूम की बेहतर परवरिश हो सकेगी।यह उम्मीद की जा सकती है| मालूम को हो पहले भी शिशु सदन से एक बच्ची स्पेनिश दंपत्ति ने गोद ली है|

Related posts

दिवालीखाल लाठीचार्ज (Diwalikhal lathicharge)- मुजफ्फरनगर में भी अपनी ही सरकार थी उत्तराखंड में भी अपनी ही है

Newsdesk Uttranews

सितारगंज और हरिद्वार के किसानों (farmers) को अल्मोड़ा में दिया गया बीजोत्पादन का प्रशिक्षण

Newsdesk Uttranews

सर्विलांस सैल चम्पावत पुलिस द्वारा बरामद कराया गया मोबाइल फोन

Newsdesk Uttranews