उत्तरा न्यूज
अभी अभी उत्तराखंड दुनिया

भारत-नेपाल के बीच सूर्य किरण अभ्यास शुरू

Surya Kiran exercise between India and Nepal begins


पिथौरागढ़। भारत-नेपाल के बीच 15वां संयुक्त सैन्य प्रशिक्षण अभ्यास सूर्य किरण सोमवार को पिथौरागढ़ में शुरू हो गया, जो 3 अक्टूबर तक चलेगा। बटालियन स्तर के इस संयुक्त सैन्य अभ्यास के उद्घाटन समारोह को संबोधित करते हुए ले. जनरल एसएस महल विशिष्ट सेवा मेडल ने भारत और नेपाल के परंपरागत और प्रगाढ़ रिश्ते को फिर से याद किया और भविष्य में भी इसके लगातार मजबूत होने का विश्वास व्यक्त किया। उन्होंने प्रशिक्षण में शामिल दोनों देशों के सैनिकों को सूर्य किरण अभ्यास के लिए शुभकामनाएं दीं।

दोनों देशों के लगभग 650 अधिकारी और सैनिक 14 दिन के संयुक्त सैन्य अभ्यास में कर रहे भागीदारी


इससे पूर्व पिथौरागढ़ के 6 गढ़वाल राइफल्स के मैदान में आयोजित उद्घाटन समारोह में सेना बैंड की धुन पर दोनों देशों के सैनिक परेड में शामिल हुए और अनुशासन के साथ सहभागिता व सदभाव को प्रदर्शित किया। इस अवसर पर 6 गढ़वाल राइफल्स के कमान अधिकारी कर्नल नितिन कालदाते और नेपाल की रिपुमर्दन बटालियन के कमान अधिकारी ले. कर्नल विजय बस्नेत मौजूद थे। कर्नल कालदाते उद्घाटन परेड के परेड कमांडर थे।


गौरतलब है कि सूर्य किरण अभ्यास ऋंखला प्रत्येक वर्ष आयोजित होती है। एक साल नेपाल और एक साल भारत में होने वाले इस अभ्यास में दोनों देशों की एक इन्फेंट्री बटालियन के सैनिक अभ्यास में शामिल होते हैं। दोनों साथ में प्रशिक्षण लेकर पारस्परिक सहभागिता को विकसित करते हुए जवाबी कार्रवाई के अभियानों और आपदा और मानवीय सहायता अभियानों के एक-दूसरे के अनुभवों को बांटते हैं। इस संयुक्त सैन्य अभ्यास के लिए नेपाली सेना के 18 ऑफिसर और 300 सैनिक शनिवार को ही पिथौरागढ़ पहुंच गए थे। इतनी ही संख्या में भारतीय सेना के अधिकारी और जवान इस सैन्य अभ्यास में शामिल हैं।

Related posts

corona update- दुकाने खोलने को लेकर फिर बदले नियम, अब रहेगा यह समय

Newsdesk Uttranews

गड़स्यारी से बालम के प्रचार ने पकड़ा जोर: प्रचार में समर्थकों की उमड़ी भीड़— कहा, ग्रामीणों का मिल रहा अपार समर्थन

Newsdesk Uttranews

छात्र संघ चुनाव में प्रिंटिग पोस्टर बैनर को लेकर सरकार का रुख कड़ा,अब प्रिंटेड मैटेरियल उपलब्ध कराने वाली मशीन स्वामियों के खिलाफ होगी कार्रवाई उच्च शिक्षा मंत्री धन सिंह रावत का बड़ा बयान